अंचल कार्यालय से दलाली का अड्डा खत्म करने की सजा भुगत रहे है अंचलाधिकारी

बक्सर अप टू डेट न्यूज़ :- राजनीती में आरोप- प्रत्यारोप तो लगते रहते है लेकिन सिमरी अंचलाधिकारी पर ही अब राजनीती गेम शुरू हो गया है| कोई अंचलाधिकारी के कामों को सरहना दे रहा है तो कोई इनके कामो का नकार भी रहा है| आखिर बात कितना सही है वो स्पष्ट रूप से सामने नही आ रही है| हलाकि पूरी मामले की जाँच चल रही है| अंचलाधिकारी कितना सही और कितना गलत है|student lone buxar

मंगलवार को नियाजीपुर के सामाजिक कार्यकर्ता प्रमोद पाठक ने कहा कि सिमरी अंचल कार्यालय से दलाली का अड्डा खत्म करने की सजा अंचलाधिकारी को झूठे आरोपों में घिर कर भुगतनी पड़ रही हैं। उन्होंने कहा कि सीओ के द्वारा जब से दलाली पर रोक लगा कर दलालों का सफाया अंचल कार्यालय से किया गया है तब से जितने भी दलाल थे वे सभी अंचलाधिकारी के खिलाफ षड्यंत्र रच रहें हैं। इनके कामो में बेवजह दखलंदाजी कर परेशानी उतपन्न कर रहे हैं।

आगे कहा की इससे पहले सिमरी को अनिल कुमार जैसा अंचलाधिकारी कभी नहीं मिला था जिनके कार्यकाल में सबसे अधिक भूमि विवादों का निपटारा किया गया हो। यहाँ तक कि लंबित मामलों का भी ससमय जाँच रिपोर्ट तैयार किया जा चुका है। उन्होंने कहा कि कुछ लोगों को छोड़ कर बाकी सभी ग्रामीण सीओ के कार्यो से संतुष्ट हैं। वही उन्होंने कहा कि अंचलाधिकारी से असंतुष्ट रहने वाले वही लोग हैं जिनका स्वार्थ सिद्ध नही हो पाया है इसलिए वे सभी सीओ के खिलाफ साजिश में शामिल हो गए हैं।

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button