कोरोना को हराने के लिए मास्क का उपयोग बहुत जरूरी :डॉ दिलशाद

बक्सर अप टू डेट न्यूज़ :- कोरोना वायरस के मामले एक बार फिर देशभर में तेजी से बढ़ रहे हैं। कोरोना की ये लहर पहले से भी ज्यादा घातक साबित हो रही है। डॉक्टर्स के मुताबिक, नया कोविड स्ट्रेन न सिर्फ अधिक संक्रामक है, बल्कि कई गंभीर लक्षण भी लेकर आया है। इस बीच कुछ मरीज होम क्वारनटीन में रिकवर हो रहे हैं, जबकि कुछ तबियत बिगड़ने पर अस्पताल की तरफ रुख कर रहे हैं।student lone buxar

सांस में तकलीफ या छाती में दर्द इंफेक्शन के ज्यादा खतरे का संकेत है। कोरोना वायरस एक रेस्पिरेटरी इंफेक्शन है और ये वायरस हमारे ‘अपर ट्रैक्ट’ में हेल्दी सेल्स पर हमला करता है। परिणामस्वरूप मरीज को सांस लेने में तकलीफ होने लगती है और उसकी जान को खतरा बढ़ जाता है।

साबित ख़िदमत फाउंडेशन के निदेशक डॉ दिलशाद आलम ने बताया कि कोरोना का स्ट्रेन बहुत ही चालबाज हैं। इससे नार्मल मरीज के फेफड़े मात्र तीन दिनों में ही खराब हो सकते हैं।इसलिए अगर लक्षण दिखे तो सिटी स्कैन या BAL टेस्ट कराये। साथ ही आगे बताया कि जरूरी है घरों में रहना और मास्क का उपयोग करना। अतिआवश्यक हो तभी सामाजिकी दूरी का पालन करते हुए घर से बाहर अपना कार्य करें। आगे बताया कि साबित खिदमत फाउंडेशन और विश्व मानव अधिकार सुरक्षा आयोग की तरफ से मुफ्त मास्क अभियान और जरूरतमंदों के लिए ऑक्सीजन का वितरण किया जाएगा| अधिक जरूरत पड़ने पर चिकित्सक सलाह भी ले सकते हैं|

इसे भी पढ़े :————————————

बिहार की सभी जिलो की खबरे पढने और देखने के लिए क्लिक करे

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button