अनोखी पहल : शादी के कार्ड पर दिया एक जन, एक वृक्ष का संदेश

बक्सर अप टू डेट न्यूज़ :- सदर प्रखंड के चुरमनपुर स्थित ट्रिनिटी कान्वेंट स्कूल के प्रबंधक धीरज पांडेय ने एक अनोखी पहल की शुरुआत की है। उन्होंने अपनी शादी के आमंत्रण कार्ड पर लोगो से पर्यावरण संरक्षण और ज्यादा से ज्यादा पेड़ लगाने की अपील की है। शादी में आये अतिथियों से यह प्रार्थना किया गया है कि वो शादी में किसी भी प्रकार का उपहार ना लायें, बल्कि उसके बदले एक पेड़ लगाकर उनके और अपने रिश्तों की एक बेहतरीन निशानी इस धरा पर छोड़ जाएं।

med bed buxar copy
विज्ञापन

प्रबंधक ने बताया कि शादियों के सीजन में एक छोटी सी शुरुआत कर के ज्यादा से ज्यादा वृक्षारोपण किया जा सकता है। उन्होंने बताया कि शादियों में आये आतिथि अपने साथ उपहार के बदले यदि एक पौधे लेकर आते है और उन पौधों की रक्षा कर एक बड़ा पेड़ बना दिया जाए तो यह पर्यावरण तथा आने वाली पीढ़ियों के लिए वरदान साबित होगा। इस प्रकार से इस धरा को सुंदर मनमोहक और हरा-भरा बनाया जा सकता है।

गौरतलब हो कि इस प्रकार से सामुहिक वृक्षारोपण का कार्य प्रबंधक के द्वारा कई बार किया जा चुका है। पुर्व में भी प्रबंधक महोदय ने एक पहल की शुरुआत कर विद्यालय के सभी बच्चो तथा शिक्षकों के नाम पर एक-एक वृक्ष लगवाया था। धीरज ने बताया कि रिश्तों की अमुल्य निशानी के तौर पर वृक्षारोपण एक बेहतरीन उपहार होगा। कोरोना काल के दौरान ऑक्सीजन की कमी ने जनजीवन को बहुत ज्यादा प्रभावित किया। पर्यावरण संरक्षण के लिए इस प्रकार के कदम सराहनीय और बेहतरीन साबित होगा। यह सन्देस वर पक्ष के रिश्तेदारों में चर्चा का विषय बना हुआ है।

नव निर्वाचित मुखिया ने दिया आशीर्वाद और बधाई

इस प्रकार के संदेश का वधु पक्ष के लोगो ने जमकर सराहना की। खासकर वधु निशा ने अपनी खुशी व्यक्त करते हुए कहा कि हमारी शादियों को यादगार बनाने के लिए इससे बेहतर कोई भी कार्य नही हो सकता। वधु ने बताया कि लगाये गए वृक्षो के साथ उसका नाम जुड़ जायेगा कि यह उसकी शादी का वृक्ष है। गौरतलब हो कि विद्यालय के प्रबंधक महोदय की शादी हठिलपुर निवासी उमेश मिश्रा की सबसे छोटी पुत्री निशा के साथ 1 दिसंबर को होना तय है।

चुरमनपुर पंचायत के नव निर्वाचित मुखिया धनजी पांडेय ने भी इस पहल की जमकर सराहना की। उन्होंने वर को आशीर्वाद और बधाई देते हुए कहा कि इस प्रकार की शुरूआत से पर्यावरण संरक्षण के साथ-साथ समाज मे एक सकरात्मक सन्देस भी जायेगा और समाज से भेदभाव समाप्त होगा। इस पहल को अपने पंचायत स्तर पर उतारने की बात भी उन्होंने कही।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button