भूमि विवाद को ले आपस में भिड़े दो पट्टीदार, दोनों तरफ से आधा दर्जन लोग घायल

पुलिस भी पहुंच एक पक्ष पर जमकर भांजी लाठियां,ग्रामीणों में आक्रोश

बक्सर अप टू डेट न्यूज़ :- मुफस्सिल थाना क्षेत्र के बारे मोड़ के पास जमीनी विवाद को ले दो पट्टीदार आपस मे भीड़ गये ।दोनों तरफ से जमीन कब्जा को ले जमकर लाठी डंडे चले ।जिसकी सूचना पर पहुंची पुलिस द्वारा दोनों तरफ से लोगो को पकड़ कर थाने ले गयी।जिसमें एक पक्ष से पकड़े गये लोगो को कुछ देर के बाद छोड़ दिया गया।

med bed buxar copy
विज्ञापन

वहीं दूसरे पक्ष के लोगो दर्ज रिपोर्ट के आधार पर जेल भेज दिया गया।घटना स्थल पर मौजूद प्रत्यक्षदर्शियों के कहना था कि पुलिस घटना स्थल पर पहुंचने के साथ ही एक पक्ष पर मेहरबान दिखी जबकि दूसरे पक्ष के युवकों को बीच चौराहे पर ही लाठी से जमकर पीटने का कार्य किया गया।

घटना मंगलवार की सुबह की है चौसा बारेमोड निवासी सुरेन्द्र पाण्डेय व वीर प्रकाश पाण्डेय के बीच की वर्षो से जमीन बंटवारे को लेकर विवाद है।जिसको लेकर वीर प्रकाश पाण्डेय व उनके भाइयों द्वारा न्ययालय का दरवाजा खटखटाया गया।यह मामला कोर्ट में था ,जिसके वावजूद वीर प्रकाश पाण्डेय व उनके परिजनों द्वारा बिना कोर्ट के किसी आदेश के ही जबरजस्ती दरवाजे का ताला तोड़ घर मे प्रवेश करने का प्रयास किया गया।जिसका विरोध सुरेन्द्र पाण्डेय व उनके भाइयों द्वारा किया गया।जिस पर तू तू मैं मैं के साथ झगड़ा बढ़ गया और दोनों तरफ से जमकर लाठी डंडे व ईंट पत्थर चलने लगे।

पुलिस ने किया त्वरित करवाई

जिसकी सूचना पुलिस को दी गयीं।मौके पर पहुंची पुलिस द्वारा दोनों तरफ से पांच -पांच लोगो को थाने ले गयी।एक पक्ष से सुरेन्द्र पाण्डेय ,रविन्द्र पाण्डेय,सुभाष पाण्डेय,गणेश पाण्डेय,व चिंटू पाण्डेय को तो वहीं दूसरे पक्ष से वीर प्रकाश पाण्डेय,आनंद प्रकाश पाण्डेय,प्रेम प्रकाश पाण्डेय,अमन कुमार पांडेय,अनन्त कुमार पाण्डेय थे।वहीं पुलिस द्वारा एक पक्ष के दर्ज एफआईआर पर सुरेन्द्र पाण्डेय व उनके साथ वालो त्वरित करवाई करते हुए जेल भेज दिया गया।जबकि दूसरे पक्ष के खिलाफ कोई रिपोर्ट दर्ज नही होने के कारण थाने से ही छोड़ दिया गया।

पुलिस के प्रति ग्रामीणों में आक्रोश

हालांकि ग्रामीणों में पुलिस के रवैये से नराजगीं है।प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार बीच चौराहे पर पहुंचते ही पुलिस अधिकारी क्यो की पुलिस द्वारा ताला तोड़ कर घर मे घुसने वालो पर मेहरबान दिखी। मामला कोर्ट में होने के बावजूद पुलिस के मौजूदगी में कब्जा करने में कामयाब रहे।जिसके कारण पुलिसिया करवाई पर सवाल उठ रहे है।पुलिस के प्रति ग्रामीणों में आक्रोश देखा जा रहा है।साथ ही प्रत्यक्षदर्शियों द्वारा बताया गया कि पुलिस अधिकारी द्वारा बीच चौक पर निर्दोष युवक को बेरहमी से पीटने का कार्य किया गया।जो कि क्षेत्र के हित के लिए थाना प्रभारी द्वारा सही कार्य नही किया गया है।

क्या कहते है थानाध्यक्ष :

थानाध्यक्ष अमित कुमार द्वारा जब इसके बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा कि दर्ज रिपोर्ट पर एक पक्ष को जेल भेज दिया गया है।दूसरे पक्ष द्वारा रिपोर्ट दर्ज नही किये जाने की स्थिति में एक पक्ष के लोगो को छोड़ दिया गया।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button