चौथे दिन लादेन को मार गिराने वाली चिनूक विमान ने भरी उडान

बक्सर अप टू डेट न्यूज़ :- धनसोई थाना क्षेत्र स्थित मानिकपुर हाई स्कूल परिसर में तकनीकी खराबी के कारण चिनूक विमान का इमरजेंसी लैंडिंग के बाद पिछले तीन दिनों से रिपेयरिंग में एक्सपर्ट जुटे हुए थे। लेकिन आज चौथे दिन टेकअप कराने में सफलता मिल गई|

med bed buxar copy
विज्ञापन

बताया जा रहा है की जिस स्कूल परिसर में चिनूक विमान का इमरजेंसी लैंडिंग हुआ था वहा कीचड़ से भरा हुआ था बिमान का पहिया धस गया था| इसको लेकर ग्रामीण भी अपने ट्रैक्टर को लेकर कुदाल खांची ले विमान को उड़ान भरने में सहयोग कर रहे थे।

25 अगस्त को हुआ था इमरजेंसी लैंडिंग

25 अगस्त को इलाहाबाद से आर्म्स लेकर बिहटा एयरफोर्स स्टेशन जा रहा चिनूक बक्सर के धनसोई थाना क्षेत्र के मानिकपुर में इमरजेंसी लैंडिंग कराई गई थी । वायुसेना के सूत्रों के मुताबिक आगे के कॉकपीट से चिंगारी निकलने के बाद चिनूक हेलीकॉप्टर की आपात लैंडिंग कराई गई थी। हांलाकि, चिनूक के बनाने वाले एक्सपर्ट मौके पर पहुंच कर पिछले तीन दिनों से बनाने में लगे हुए थे|

मानिकपुर गांव में भारी मेला जैसा नजारा

पहली बार उतरा युद्ध के दौरान इस्तेमाल होने वाला चिनूक हेलीकॉप्टर कौतुहल का विषय बना हुआ है। हेलीकॉप्टर को देखने के लिए दूर दूर से लोग पहुंच रहें हैं। मानिकपुर गांव में भारी मेला जैसा नजारा देखने को मिल रहा है। वायु सेना के जिस हेलीकॉप्टर को देखने के लिए लोग उत्सुक हैं

तीन दिनों से स्थानीय पुलिस के छूट रहे पसीने

दूसरी ओर चिनूक हेलीकॉप्टर के आपात लैंडिंग के बाद स्थानीय धनसोई थाने की पुलिस सुरक्षा को लेकर काफी परेशान दिख रहे थे। धनसोई पुलिस के जवानों को दिन रात हेलीकॉप्टर की सुरक्षा में तैनात रहना पड़ता रहा था । जिसके कारण पुलिस अन्य कार्यों को संपादित नहीं कर पा रही थी।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button