ताड़का वध, अहिल्या उद्धार एवं धनुष यज्ञ का किया मंचन

ads buxar
विज्ञापन

रामलीला समिति कम्हरिया के द्वारा चल रही रामलीला मंचन के दूसरे दिन का हुआ मंचन

ताड़का वध, अहिल्या उद्धार एवं धनुष यज्ञ का किया मंचन

बक्सर अप टू डेट न्यूज़ /चौसा :- प्रखंड के कम्हरिया गाँव मे चल रहे दशहरा महोत्सव के दूसरे दिन ताड़का वध, अहिल्या उद्धार एवं धनुष यज्ञ का मंचन किया गया।

श्री रामलीला समिति कम्हरिया के द्वारा चल रही रामलीला मंचन के दूसरे दिन महर्षि विश्वामित्र द्वारा अयोध्या नगर में राजा दशरथ के दरबार में उपस्थित होकर ऋषि मुनियों की राक्षसों से रक्षा करने के लिए राम-लक्ष्मण को अपने आश्रम ले जाने तथा महारानी कौशल्या, सुमित्रा, कैकेयी द्वारा पुत्र विछोह के प्रसंग ने दर्शकों को भावुक कर दिया। वहीं, विश्वामित्र के आश्रम में जाते समय ताड़क वन में राक्षसी ताड़का के वध एवं अहिल्या उद्धार के प्रसंग पर संपूर्ण वातावरण श्री राम के जयघोष से गूंज उठा।

श्रीराम के चरणों से पत्थर की अहिल्या महिला रूप में प्रकट

वही, उधर, ऋषि विश्वामित्र को राजा जनक के यहां से सीता स्वयंवर में शामिल होने का न्यौता मिलता है। वह श्रीराम लक्ष्मण को लेकर जनक के यहां रवाना होते हैं। रास्ते में एक पत्थर की शिला दिखाई देती है, जिसके संबंध में विश्वामित्र बताते हैं कि वह गौतम ऋषि की पत्नी अहिल्या हैं, जो पति के श्राप से पत्थर बन गई हैं। श्रीराम के चरणों से पत्थर की अहिल्या महिला रूप में प्रकट होती है। वह श्रीराम को प्रणाम करके देव लोक चली जाती है। इसके बाद महर्षि विश्वामित्र जी के साथ राम और लक्ष्मण जनकपुर जाते हैं जहाँ धनुष यज्ञ की जा रही थी।

रामलीला में माता सीता के स्वयंवर की तैयारी शुरू हो गई। राजा जनक ने दूर-दूर के राजाओं को आमंत्रण दिया। राजा महाराजाओं ने भागीदारी कर सीता माता के साथ विवाह करने की इच्छा जाहिर की। लेकिन माता से विवाह करने के लिए कोई भी राजा, महाराजा धनुष तोड़ना तो दूर उसे हिला भी नहीं सका। गुरु की आज्ञा लेने के बाद भगवान श्रीराम ने जैसे ही धनुष तोड़ा वैसे ही रामलीला प्रांगण में बैठे दर्शकों ने तालियां बजाई और जय श्री राम के नारे लगाए।

mob dukan buxar
विज्ञापन

धनुष टूटते ही परशुराम आए और क्रोधित होते हुए धनुष तोड़ने वाले के बारे में पूछा तो नाराज लक्ष्मण का उनसे संवाद हो गया। इसके बाद तीसरे दिन श्रीराम बरात निकाली जाएगी। कार्यक्रम में समिति के सभी पदाधिकारियों के साथ ग्रामीण क्षेत्रों के लोग उपस्थित रहे।

इसे भी पढ़े :————–

buxar upto date news

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
Insatall APP
live TV
Search
facebook