अपराध और अपराधियों को जड़ से खत्म करने के लिए एसपी बनाई नई रणनीति

बक्सर पुलिस कप्तान उपेंद्र नाथ वर्मा के नेतृत्व में बक्सर पुलिस अब अपराध और अपराधियों को जड़ से खत्म करने के लिए नई रणनीति के तहत कार्य कर रही है।

अपराध और अपराधियों को जड़ से खत्म करने के लिए एसपी बनाई नई रणनीति

बक्सर अप टू डेट न्यूज़ :- बक्सर पुलिस इन दिनों एक्शन मोड में है। और पुलिस के इस एक्शन का ही नतीजा है कि लगातार एक के बाद एक अपराधियों को सलाखों के पीछे पहुंचाया जा रहा है। पुलिस के इस एक्शन के कारण जिले के अपराधियों में हड़कंप का माहौल कायम हो गया है। जानकारी के मुताबिक। बक्सर पुलिस कप्तान उपेंद्र नाथ वर्मा के नेतृत्व में बक्सर पुलिस अब अपराध और अपराधियों को जड़ से खत्म करने के लिए नई रणनीति के तहत कार्य कर रही है।

दरअसल इसी रणनीति को ध्यान में रखते हुए बक्सर एसपी उपेंद्र नाथ वर्मा ने एक बार फिर जिले के तमाम थानेदारों के साथ अहम बैठक की है। कई घंटों तक चली इस बैठक में एसपी ने थानेदारों को कई दिशा-निर्देश जारी किए है। उन्होंने साफ-साफ कहा हैकि अपराध और अपराधियों का जिले से खात्मा होना चाहिए। इस बाबत थानेदारों को एसपी के तरफ से कई टास्क दिए गए हैं जिसे निश्चित अवधि में पूरा करके कानून का राज कायम करना है।

अपराधी अपराध करके निकल नहीं सके इसको लेकर खास प्लानिंग के तहत पुलिस काम करेगी।

इससे पहले बक्सर एसपी ने वर्ष 2019 के अपराध का आंकड़ा भी जारी किया है। नए वर्ष में पुलिस का एक्शन मोड में आने और अपराधियों के खिलाफ चलाए जा रहे अभियान से यह साफ हो गया है कि पुलिस अब किसी भी कीमत पर अपराध और अपराधियों दोनों का सफाया करने के लिए खास रणनीति पर काम कर रही है जिसका असर आनेवाले दिनों में और ज्यादा देखने को मिलेगा।

इधर बक्सर एसपी उपेंद्र नाथ वर्मा ने कहा है कि पुलिस एक खास रणनीति के तहत जांच अभियान चलाएगी। प्रमुख चौक चौराहों, बैंकों और शिक्षण संस्थान के अलावे अन्य जगहों पर पुलिस की पैनी नजर रहेगी। जानकारी के मुताबिक सड़को पर चेकिंग अभियान के अलावा पुलिस गस्ती और ज्यादा चुस्त करने का निर्देश दिया गया है। अपराधी अपराध करके निकल नहीं सके इसको लेकर खास प्लानिंग के तहत पुलिस काम करेगी। इस अभियान में अलग से एक्टिव पुलिसकर्मियों को लगाया गया है जो जानकारी हासिल कर कार्रवाई को अंजाम देंगे।

[metaslider id=2268 cssclass=””]

बक्सर पुलिस के इस अंदाज से अब साफ हो गया है कि अपराध डाल डाल तो पुलिस पात पात के तर्ज पर अपराधियों को उनके अंजाम तक पहुंचाने के लिए तत्पर दिख रही है। अब वाकई में अगर पुलिस के काम करने का यही ट्रेंड रहा तो भले ही अपराध पूरी तरह से खत्म नहीं हो लेकिन अपराधी तो पुलिस के डर से बिल में समा ही जाएंगे। जाहिर है ऐसे में अपराध के आंकड़ों में तो कमी होगी ही जिले में शांति और सुरक्षा का माहौल भी कायम होगा।

इसे भी पढ़े :———————-

BUXAR UPTO DATE NEWS APP

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button