जनता का प्यार देख थानेदार की भर आई आंखें, बैंड बाजे के साथ हुई विदाई

नावानगर थानाध्यक्ष जुनैद आलम की विदाई समारोह का आयोजन किया गया जिनमे बैंड बाजे के साथ हुई उसकी विदाई हुई |

ads buxar

जनता का प्यार देख थानेदार की भर आई आंखें, बैंड बाजे के साथ हुई विदाई

बक्सर अप टू डेट न्यूज़ :- पुलिस अधिकारियों के तबादले पर आपने वेलफेयर पार्टियां तो कई देखी होंगी लेकिन एक थानेदार की विदाई जिस तरीके से उस क्षेत्र की जनता ने कि वह अपने आप में काफी अनोखा है। मामला नवानगर थाना क्षेत्र का है जहां नवानगर के प्रभारी जुनैद आलम को सिमरी थाना का नया प्रभारी बनाए जाने के बाद उनकी विदाई में एक कार्यक्रम का आयोजन किया गया।

इस कार्यक्रम में चौकीदार संघ के द्वारा बैंड बाजे के साथ थानेदार की विदाई की गई। इस अवसर पर थानेदार को लोगों ने फूलों की मालाओं से लाद दिया। थानेदार के विदाई समारोह में क्षेत्र से हजारों की संख्या में लोग पहुंचे और सभी ने बेहतर थानेदारी के लिए जुनेद आलम को धन्यवाद दिया और उन्हें नए थाने का प्रभारी बनाए जाने पर उन्हें बधाई दी।

अपने कार्यकाल में जिस तरीके से थानेदारी कि वह वाकई एक मिसाल है।

जिले में यह पहला मामला था जब किसी थानेदार के विदाई समारोह में इस तरीके से भारी भीड़ जुटी। लोगों ने कहा कि जुनैद आलम ने अपने कार्यकाल में जिस तरीके से थानेदारी कि वह वाकई एक मिसाल है। वे सभी को साथ लेकर चले और सब की समस्याओं पर गंभीरता पूर्वक विचार करते हुए उचित कानूनी कार्रवाई भी की। जुनैद आलम का काम करने का यह अनोखा अंदाज ही था जो वे सभी के दिलों में अपनी एक अलग पहचान बना ली है।

जनता की समस्या और उनकी सुरक्षा पुलिस की पहली प्राथमिकता – थानेदार

बताया जाता है कि थानेदार के विदाई समारोह कि जैसे ही आसपास के लोगों से लोगों को सूचना मिली। भारी तादाद में लोग पहुंच गए। सभी ने थानेदार को उनके बेहतर कार्यकाल के लिए सराहा और नए थाना का प्रभारी बनकर और बेहतर करने के लिए उनसे संभावना जताई। इस मौके पर थानेदार जुनैद आलम ने कहा कि जनता की समस्या और उनकी सुरक्षा पुलिस की पहली प्राथमिकता है जिसको मैंने सदैव अपना कर्तव्य समझकर निभाया। उम्मीद है आगे भी मैं अपने कर्तव्यों के प्रति खरा उतरूंगा और पुलिस में रहते हुए लोगों की सेवा करूंगा।

[metaslider id=2268 cssclass=””]

खास बात यह रही कि विदाई समारोह समाप्त होने के बाद थाना क्षेत्र के चौकीदारों की आंखें भर आई। यही हाल इलाके के कुछ वैसे लोगों का भी था जो इस विदाई समारोह में पहुंचे थे। लोगों ने कहा कि जुनैद आलम की खासियत थी कि एक फोन पर भी वह 24 घंटे किसी की मदद को तैयार रहते थे।

आपको बताते चलें कि जुनैद आलम अब जिले के सिमरी थाना के नए थानाध्यक्ष बनाए गए हैं और उम्मीद जताई जा रही है कि वहां भी वे बेहतर कार्य से वहां की जनता में अपनी एक अलग पहचान बनाने में कामयाब होंगे।

इसे भी पढ़े :—————

BUXAR UPTO DATE NEWS APP

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button