पौराणिक स्थलों के विकास के लिए केन्द्रीय मंत्रियों को रामलीला समिति सौंपेगा मांग पत्र

बक्सर अप टू डेट न्यूज़ :- बुधवार को श्रीरामलीला समिति बक्सर के पदाधिकारियों की एक बैठक  रामलीला मंच पर की गई। जिसकी अध्यक्षता समिति के कार्यकारी अध्यक्ष रामावतार पाण्डेय व संचालन सचिव बैकुण्ठनाथ शर्मा ने किया|

med bed buxar copy
विज्ञापन

बैठक में सर्वसम्मति से निर्णय लिया गया कि आगामी 21 अगस्त को जन- आशीर्वाद यात्रा क्रम में बक्सर पहुंच रहे केन्द्रीय मंत्री आर0 के0 सिंह, अश्विनी कुमार चौबे को बक्सर के पौराणिक स्थलों के विकास को लेकर मांगपत्र सौंपा जायेगा।

इस मौके पर उपस्थित सदस्यों को संबोधित करते हुए समिति के सचिव बैकुण्ठनाथ शर्मा बताया कि बक्सर महर्षि विश्वामित्र की तपोस्थली व मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान श्रीराम की कर्मभूमि होने के साथ वामनावतार, अहिल्या उद्धार, ताड़का वध के अलावे दर्जनों धार्मिक व पौराणिक महत्वों को समेटे बक्सर का पर्यटक के रुप में आज तक विकास नहीं हो सका। इसलिए 21 अगस्त को पहुंच रहे तमाम मंत्रियों को पर्यटक के विकास को लेकर पांच सूत्री मांग पत्र सौपेगा|

जिला का नाम पौराणिक नामकरण “विश्वामित्र आश्रम” किया जाय।

जिसमें कैशर हिन्द के नाम पर दर्ज किला मैदान (रामलीला मैदान) को जो सरकारी तौर पर रामलीला मैदान घोषित किया जाय। रामलीला मंच के उत्तर तरफ खाली जमीन पर महर्षि विश्वामित्र के साथ श्रीराम,लक्ष्मण को ताड़का का संहार करते हुए बहुत बड़ा स्टेच्यू बनाया जाय। अहिल्या उद्धार स्थल अहिरौली, वामनावतार स्थल-सेंट्रल जेल रोड, पंचकोसी यात्रा के पांचों आश्रम सहित सभी पौराणिक मठ मंदिरों का पर्यटक रुप में विकसित किया जाय। श्मशान घाट- बक्सर, चौसा, केशोपुर में विद्युत शवदाह गृह बनाया जाय।बक्सर का पौराणिक नामकरण “विश्वामित्र आश्रम” किया जाय।

उक्त कार्यक्रम में सुरेश संगम, रामस्वरूप अग्रवाल, कृष्णा वर्मा,, राजकुमार गुप्ता, कमलेश्वर तिवारी, उदय सर्राफ जोखन, सुशील कुमार मानसिंहका, कन्हैया पाठक, आदित्य चौधरी, प्रफुल्ल चन्द्र सिंह, निर्मल कुमार पाण्डेय, मदन जी दूबे, पुनीत सिंह, विनय उपाध्याय, डा0 ओमप्रकाश केशरी “पवननंदन”,रामनारायण गोंड, रामायण चौबे, आदित्य चौधरी, लक्ष्मण शर्मा, गणेश सिंह सहित अन्य पदाधिकारी मुख्य रुप से उपस्थित थे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button