न्याय सबके लिए समान विषय पर चित्रकला प्रतियोगिता का आयोजन

बक्सर अप टू डेट न्यूज़ :- विधिक सेवा सदन में जिला एवं सत्र न्यायाधीश अंजनी कुमार सिंह ने पैन इंडिया जागरूकता प्रदर्शनी का उद्घाटन फीता काट कर किया। मौके पर व्यवहार न्यायालय के सभी न्यायाधीश उपस्थित रहे। प्रदर्शनी में आत्मनिर्भर भारत का संदेश दिया गया।

med bed buxar copy
विज्ञापन

उद्घाटन अवसर पर अपने संबोधन के दौरान जिला और सत्र न्यायाधीश ने विधि छात्रों को बताया की प्रदर्शनी उनके विधि शिक्षा की एक कड़ी है। उन्होंने बताया कि नालसा के ग्यारह योजनाओं की जानकारी प्रस्तुत करने का प्रयास किया गया है। इसका लाभ हम दोनों को मिल रहा है। उन्होंने बताया कि केंद्रीय कारा में विधिक जागरूकता कार्यक्रम आयोजित की गई। इसके अलावा एक निजी विद्यालय में न्याय सबके लिए समान विषय पर चित्रकला प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। जिसमे बच्चों ने काफी उत्साहपूर्ण कार्य किए। प्रतियोगिता की प्रति सुरक्षित रखी गई है। न्यायालय खुलने पर उनका उत्साहवर्धन किया जाएगा।

मौके पर अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश शशिकांत चौधरी, राकेश मिश्रा, राजेश कुमार त्रिपाठी, कैलाश जोशी, अविनाश शर्मा, आशुतोष कुमार सिंह, बृजकिशोर सिंह, विवेक राय, मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी, राकेश कुमार द्वितीय, अवर न्यायाधीश शिप्राचला अंजलि, सीमा कुमारी, रमेश कुमार, राकेश रंजन सिंह, प्रधान न्यायाधीश मुकतेश मनोहर, न्यायिक दंडाधिकारी प्रथम श्रेणी राजेश कुमार सिंह, रंजन कुमार सिंह,नितिन त्रिपाठी, आनंद प्रकाश, रिंकी कुमारी, प्रभात कुमार, सुधा रानी, प्रियंका कुमारी, डिंपी कुमारी आदि मौजूद रहे।

इस पैन इंडिया जागरूकता प्रदर्शनी का मुख्य उद्देश्य जिले के लोगों को यह बताना था कि आपके जिले में एक ऐसी संस्था है, जिसमें एक छत के नीचे आपको सरकार के द्वारा चलाई जा रही है सभी योजनाओं का लाभ एवं साथ ही कानून संबंधी आपके सारे वाद विवाद की समस्याओं का हल का निपटारा किया जा सकता है।

जिले के अन्य क्षेत्र में मोबाइल बैन द्वारा डुमरावँ प्रखंड और नवानगर प्रखंड में पैनल अधिवक्ता कुमार मानवेन्द्र, विधि स्वयंसेवक आस नारायण मिश्रा, सुंदरम कुमार, प्रिय रंजन पांडे द्वारा अन्य प्रखंडों में राजपुर प्रखंड में सरोज कुमार चौबे, बक्सर प्रखंड में राधेश्याम उपाध्याय, गजेन्द्र दुबे
द्वारा जागरूकता और डोर टू डोर कार्यक्रम किया गया।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button