50 हजार का इनामी कुख्यात अपराधी गिरफ्तार

50 हजार का इनामी कुख्यात अपराधी को पटना एसटीएफ की टीम ने शुक्रवार की सुबह पश्चिम बंगाल के दुर्गापुर इलाके से दबोचने में सफलता हासिल की।

ads buxar

50 हजार का इनामी कुख्यात अपराधी गिरफ्तार

बक्सर अप टू डेट न्यूज़ :-50 हजार का इनामी कुख्यात अपराधी को पटना एसटीएफ की टीम ने शुक्रवार की सुबह पश्चिम बंगाल के दुर्गापुर इलाके से दबोचने में सफलता हासिल की। पुलिस मुख्यालय ने उसपर 50 हजार रुपये का इनाम घोषित कर रखा था। इनामी पर बक्सर, रोहतास, भोजपुर, व सिवान समेत अन्य जिलों में हत्या, लूटपाट, व रंगदारी, गोलीबारी जैसे दो दर्जन संगीन मामले हैं। वही बक्सर जिला में लगभग एक दर्जन से अधिक मामले दर्ज था।

एक साल से बिहार पुलिस को उसकी सरगर्मी से तलाश थी। वांटेड चंदन गुप्ता बक्सर जिले के डुमरांव थाने के कसिंया गांव का मूल निवासी बताया जाता है। सूत्रों की मानें तो पकड़े गए कुख्यात की निशानदेही पर एसटीएफ संभावित ठिकानों से एके-47, रायफल व पिस्तौल समेत कई और अवैध हथियारों को बरामद करने के प्रयास में लगी हुई है। छह महीने से एसटीएफ मोस्ट वांटेड को पकड़ने में लगी हुई थी। इसके लिए डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय ने एसटीएफ के चुनिंदा अफसरों को जिम्मेवारी सौंपी थी। वह लगातार ठिकाना बदल रहा था। सूत्रों के अनुसार, एसटीएफ, पटना को मोबाइल सर्विलांस के जरिए जानकारी मिली कि चंदन गुप्ता पश्चिम बंगाल के दुर्गापुर में छिपा हुआ है। st join buxar

2015 में पहली बार लूट कांड में नाम आया था

इसके बाद पटना से एसटीएफ टीम को दुर्गापुर भेजा गया। टीम ने घेराबंदी कर वांटेड चंदन को धर दबोचा। विशेष वाहन से उसे पटना लाया गया। डुमरांव व बक्सर में ताबड़तोड़ घटना को अंजाम देने के बाद चंदन पुलिस अधिकारियों के लिए सिरदर्द बन गया था।वही मोबाइल फोन का उपयोग नही करता था जिसे पुलिस को उसका सुराग नही मिल पा रही थी। 2015 में पहली बार लूट कांड में नाम आया था तथा 2015 के मामले में वह जेल भी गया था।जमानत मिलने के बाद बाहर आया था और धनजी सिंह और उनके सहयोगियों को मार कर चन्दन गुप्ता कुख्यात अपराधी बन गया था।

इसे भी पढ़े :————

BUXAR UPTO DATE NEWS APP

Related Articles

Back to top button