पेड़ लगाकर मानव कल्याणकारी कार्य करने की जरूरत

वर्तमान परिस्थिति में भी सरकार द्वारा मानव कल्याणकारी कार्यों को लागू किया गया है. जिसमें जल जीवन हरियाली अभियान सबसे महत्वपूर्ण योजना है. इस अभियान के तहत भी बुद्ध के विचारों को आत्मसात करने की जरूरत है.

buxar add

बुद्ध की तरह हमें पेड़ लगाकर मानव कल्याणकारी कार्य करने की जरूरत है :- बीडीओ अरुण सिंह

बक्सर अप टू डेट न्यूज़/ राजपुर:-  प्रखंड के देवढीया पंचायत अंतर्गत सैंथू पोखरा स्थित सम्राट अशोक बुद्ध विहार के प्रांगण में सम्राट अशोक क्लब के द्वारा प्रकाश दिवस महोत्सव मनाया गया.इसकी अध्यक्षता रामनिवास मौर्य ने किया.

कार्यक्रम के आरंभ में प्रखंड विकास पदाधिकारी अरुण कुमार सिंह के द्वारा राष्ट्रीय ध्वज फहराया गया. उपस्थित गणमान्य अतिथियों के द्वारा बुद्ध की प्रतिमा के समक्ष पुष्प अर्पित किया गया. बक्सर जिले के जुड़े कराटे चैंपियन अश्वनी कुमार कुशवाहा के द्वारा आत्मरक्षा हेतु विभिन्न प्रकार के तरीके बताए गए. सबसे पहले इनके द्वारा चाकू से वार करने, हाथ से वार करने और अचानक कोई पिस्टल से वार करता है तो उसे कैसे बचा जा सकता है इन सारे तथ्यों को प्रायोगिक तौर पर जानकारी देते हुए स्वयं की रक्षा करने के विभिन्न तरीकों को जानकारी दिया. इसके साथ ही अगर किसी लड़की के साथ कोई छेड़खानी करता है तो लड़कियों को स्वयं की बचाव कैसे करना है. इसकी भी जानकारी इन्होंने दिया.

आसपास की लड़कियों ने आत्मरक्षा के तरीके सीख उनके अंदर आत्म बल मिला


इनकी जानकारी पाकर यहां पर मौजूद गांव सहित आसपास की लड़कियों ने आत्मरक्षा के तरीके सीख उनके अंदर आत्म बल मिला. इस सभा में आम जनों को संबोधित करते हुए बीडीओ अरुण कुमार सिंह ने कहा कि आज से हजारों वर्ष पूर्व महामानव गौतम बुद्ध वर्षावास के दौरान एकांतवास करते थे जिनके साथ में हजारों की संख्या में उनके अनुयाई भी रहते थे. उनके द्वारा जन कल्याण कार्य हेतु ठहरने के स्थान पर हजारों पेड़ -पौधे और जीव जंतुओं की सुरक्षा के लिए तलाब और पोखर की खुदाई की जाती थी और वहां से चले जाने के बाद किसी एक बौद्ध भिक्षु को उस स्थल को देखने के लिए छोड़ दिया जाता था. जिसका संदेश पूरी दुनिया में उन्होंने शांति के साथ-साथ जीवो की रक्षा के लिए दिया.

बुद्ध के विचारों को आत्मसात करने की जरूरत

वर्तमान परिस्थिति में भी सरकार द्वारा मानव कल्याणकारी कार्यों को लागू किया गया है. जिसमें जल जीवन हरियाली अभियान सबसे महत्वपूर्ण योजना है. इस अभियान के तहत भी बुद्ध के विचारों को आत्मसात करने की जरूरत है. जिनके विचारों को मानकर हम आज भी अगर अधिक से अधिक पेड़-पौधे लगाते हैं तालाब और पोखर की खुदाई करते हैं तो जीव जंतुओं के साथ-साथ मानव जीवन भी सुलभ होगा.

लोग आपस में मिलजुल कर रहे हैं तो निश्चित तौर पर इस प्रकाश पर्व की सार्थकता सिद्ध हो सकती है

कुसुम शाक्य ने कहा कि बुद्ध ने पूरे दुनिया में शांति का संदेश दिया अगर वास्तव में आज भी लोग आपस में मिलजुल कर रहे हैं तो निश्चित तौर पर इस प्रकाश पर्व की सार्थकता सिद्ध हो सकती है और पूरे भारतवर्ष में फिर से एक नया उजाला होगा .इस मौके पर पूर्व मुखिया मकरध्वज सिंह विद्रोही ने भी सभा को संबोधित करते हुए कहा कि जिस परिस्थिति से गुजर रहा है उस विषम परिस्थिति में बुद्ध के विचारों को मानने की जरूरत है. तभी भारत सहित पूरी दुनिया में शांति व्यवस्था को कायम किया जा सकता है और वास्तव में सही मायने में इस प्रकाश पर्व का महत्व सिद्ध हो सकता है.buxar bjp add

कार्यक्रम के दौरान विशेष रूप से चिकित्सा शिविर का भी आयोजन किया गया था .जहां मौजूद डॉक्टर अभय कुमार मौर्य, डॉक्टर शोभनाथ अनोखा, डॉक्टर अवधेश सिंह के द्वारा क्षेत्र से आए हुए रोगियों की जांच पड़ताल कर दवा दिया गया. इस मौके पर क्षेत्र के कलाकार मनु अभिमन्यु ,सुनील सुरीला, सहित अन्य कलाकारों के द्वारा सामाजिक एवं भक्ति गीतों की प्रस्तुति की गई. इस मौके पर जदयू प्रखंड अध्यक्ष फूटचंद सिंह, पूर्व जदयू अध्यक्ष दीनदयाल सिंह कुशवाहा, पूर्व बिहार प्रभारी दयानंद मौर्य, बिहार उपाध्यक्ष शंकर मौर्य, सुनील मौर्य सहित अन्य लोग उपस्थित थे.

इसे भी पढ़े :———————-

BUXAR UPTO DATE NEWS APP

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button