अश्विनी चौबे के खिलाफ विधायकों ने फूंका बिगुल, पत्रकार उमेश पाण्डेय का किया समर्थन

बक्सर अप टू डेट न्यूज़ :- केंद्रीय स्वास्थ्य परिवार कल्याण राज्य मंत्री एवं बक्सर के सांसद अश्विनी चौबे के खिलाफ विपक्षी दल के विधायकों ने बिगुल फूंक दिया है| बक्सर सदर विधायक संजय कुमार तिवारी उर्फ़ मुन्ना तिवारी, राजपुर विधायक विश्वनाथ राम एवं डुमरांव विधायक अजीत सिंह कुशवाहा ने संयुक्त प्रेस विज्ञप्ति जारी कर कहा है कि लोकतंत्र के प्रहरी पत्रकार उमेश पाण्डेय पर दर्ज की गई एफ.आई.आर की निष्पक्ष जांच कर उसे यथाशीघ्र हटाया जाए|student lone buxar

दरअसल, कोरोना काल में सस्ती लोकप्रियता पाने के लिए अश्विनी चौबे ने एक ही एम्बुलेंस का चार जगहों से चार बार उद्घाटन करवाया था| अश्विनी चौबे के इस झूठ के आडम्बर को उमेश पाण्डेय ने उजागर कर जनता को जमीनी हकीकत से रूबरू करवाया जो मंत्री जी को नागवार गुजरा| केंद्र से बिहार तक सत्ता की हनक रखनेवाले मंत्री अश्विनी चौबे के इशारे पर भाजपा नेता परशुराम चतुर्वेदी द्वारा पत्रकार पर 10 पन्नों की FIR दर्ज कराई गयी| बक्सर सदर थाना में 23 मई को उमेश पाण्डेय के खिलाफ 500, 506, 290, 420 और धारा 34 के तहत मामला दर्ज किया गया है. दर्ज FIR में केंद्रीय मंत्री अश्विनी चौबे और बीजेपी की छवि धूमिल करने समेत कई गंभीर आरोप लगाए हैं|

विधायकों द्वारा जारी संयुक्त प्रेस विज्ञप्ति में यह स्पष्ट किया गया है कि पत्रकार उमेश पाण्डेय पर किसी भी कार्रवाई का हमलोग विरोध करेंगे, धरना प्रदर्शन, जेल भरो आन्दोलन के साथ हम सभी अपनी गिरफ्तारी देंगे| पत्रकार ने स्थानीय भाजपा सांसद के काले कारनामे को उजागर किया है उसे किसी भी प्रकार से नाजायज नहीं ठहराया जा सकता| लोकतंत्र को बचाने के लिए ऐसे पत्रकारों के मान-सम्मान की रक्षा हम सबों के साथ-साथ स्वयं जनता भी करेगी|

पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी ने मुकदमा वापस लेने की थी मांग

उल्लेखनीय है कि भाजपा नेता द्वारा पत्रकार उमेश पाण्डेय के खिलाफ दर्ज कराई गयी FIR का विरोध एनडीए के घटक दल भी कर चुके हैं| पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी ने जहाँ मुकदमा वापस लेने की मांग की वही जदयू नेता अशोक कुमार सिंह ने अश्विनी चौबे पर मुख्यमंत्री को बदमान करने का आरोप लगाते हुए कहा कि नीतीश कुमार को बदनाम करने की साजिश रचना बंद करें. नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव और भाकपा माले के राष्ट्रीय महासचिव दीपांकर भट्टाचार्य सहित कई अन्य राजनीतिक दल के लोग भी पत्रकार उमेश पाण्डेय पर फर्जी मुकदमा कर फंसाए जाने की घोर भर्त्सना करते हुए FIR वापस लेने की मांग कर चुके हैं|

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button