एंबुलेंस की कालाबाजारी मामले में जनशक्ति दिया धरना

बक्सर अप टू डेट न्यूज़ /चौंगाई :- इस कोरोना माहामारी में मानवता का जीवनरक्षक एंबुलेंस की कालाबजारी करने वाले भाजपा नेताओं पर एफआईआर दर्ज कर गिरफ्तारी की मांग को लेकर जनशक्ति संगठन के राष्ट्रीय अध्यक्ष रविन्द्र सिंह शाहाबादी और बक्सर जिलाध्यक्ष प्रकाश शर्मा के निर्देश पर जनशक्ति संगठन की चौंगाई प्रखंड इकाई की कार्यकर्ताओं ने सोसल डिस्टैसिंग का पालन करते हुए अपने प्रखंड कार्यालय पर एक दिवसीय धरना का आयोजन किया।student lone buxar

धरने का नेतृत्व जनशक्ति का चौंगाई प्रखंड अध्यक्ष राधेश्याम प्रसाद ने किया। उन्होने बताया कि एंबुलेस की कालाबजारी करना आम जनता को मौत के मुहं में धकेलने वाली बात हैं। हर जनता को सरकार से अपेक्षा रहती हैं जब सरकार व सरकार के लोग हीं जनता के साथ छल व धोखा करेंगें तब जनता का जीवन कैसे सुरक्षित रहेगी। अब सांसद लोग ही एंबुलेंस की कालाबजारी कर रहें हैं पर आश्चर्य की अभी तक कोई कारवाई नहीं हुई जबकि ऐसे लोगों पर अब तक कारवाई हो जानी चाहिए ।

सरकार क्यों उन्हें बचा रही

छपरा सांसद राजीव प्रताप रूढी के यंहा 35 एंबुलेस मिलने के बाद भी उनकी गिरफ्तारी नहीं होना यक्ष प्रश्न बना हुआ हैं कि सरकार क्यों उन्हें बचा रही हैं। और अब तो एक और सांसद सह केंद्रीय मंत्री का एंबुलेंस की कालाबजारी का मामला सामने आ गया हैं।

केंद्रीय मंत्री अश्वनी चौबे बक्सर में एक ही एंबुलेंस को बार बार फर्जी उद्घाटन कर रहें हैं जो घोर निंदनीय हैं। यह जनता के साथ छल व धोखा हैं ये लोग मजाक बना कर रख दिए हैं ऐसे सांसदो पर अविलंब कारवाई होनी चाहिए। इस धरना के माध्यम से हमलोग भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी व बिहार के मुख्यमंत्री से यह मांग करते हैं कि एंबुलेंस की चोरी व कालाबजारी करने वाले केंद्रीय मंत्री अश्विनी चौबे व भाजपा सांसद राजीव प्रताप रूढी पर एफ़ाइआर कर उनको अविलंब गिरफ्तार किया जाए ताकि आगे कोई ऐसा कुकृत्य न कर पाये व आम जनता का लोकतंत्र व सरकार पर विश्वास बना रहे।

Show More

Related Articles

One Comment

  1. बहुत अच्छा ऎसे नेता को लम्बी सजा होनी चाहिए

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button