लॉकडाउन की गाइडलाइन जारी: जिला की सारे ऑफिस बंद, सड़क पर चलना प्रतिबंधित

बक्सर अप टू डेट न्यूज़ :- कोरोना वायरस जनित महामारी की दूसरी लहर से देश के अनेक राज्यों सहित बिहार में भी कोरोना पॉजिटिव मामलों की संख्या में वृद्धि हुई है। उपर्युक्त स्थिति को ध्यान में रखते हुए राज्य सरकार द्वारा  05.05.2021 से 15.05.2021 तक संपूर्ण लॉकडाउन की घोषणा कर दिया।student lone buxar

बक्सर जिलाधिकारी ने 05.05.2021 से 15.05.2021 तक के लिए समुदाय के जीवन / स्वास्थ्य की रक्षा के निमितआदेश जारी करते हुए निर्देश दिया है| जिनमे :-

  1. राज्य के सभी कार्यालय बंद रहेंगे।

अपवाद : आवश्यक सेवाओं यथा जिला प्रशासन, पुलिस सिविल डिफेंस, विद्युत आपूर्ति, जलापूर्ति, स्वच्छता, फायर ब्रिगेड, स्वास्थ्य, पशु स्वास्थ्य, आपदा प्रबंधन कोषागार एवं उनसे सम्बंधित वित्त विभाग के कार्यालय, दूरसंचार डाक विभाग से संबंधित कार्यालय यथावत कार्य करेंगे। न्यायिक प्रशासन के संबंध में माननीय उच्च न्यायालय के द्वारा लिया गया निर्णय लागू होगा।

2. दुकानें, वाणिज्यक एवं अन्य निजी प्रतिष्ठान बंद रहेंगे।

अपवाद :

  1. बैंकिंग, बीमा, एवं ए०टी०एम० संचालन से संबंधित प्रतिष्ठान ।
  2. औद्योगिक एवं विनिर्माण कार्य से संबंधित प्रतिष्ठान
  3. सभी प्रकार के निर्माण कार्य (Construction Works)।
  4. E-Commerce एवं Courier Servieces से जुड़ी सारी गतिविधियाँ (ड०) कृषि एवं इससे जुड़े कार्य
  5. प्रिंट और इलेक्ट्रानिक मीडिया
  6. टेलीकम्यूनिकेशन, इंटरनेट सेवाएं ब्रॉडकास्टिंग एवं केवल सेवाओं से संबंधित गतिविधियाँ। (झ) आवश्यक खाद्य सामग्री तथा फल एवं सब्जी / मांस-मछली / दूध / पी०डी०एस० की दुकानें प्रातः
  7. प्रेट्रोल पम्प, एल०पी०जी० पेट्रोलियम आदि से संबंधित खुदरा एवं भण्डारण प्रतिष्ठान 07:00 बजे से 11:00 बजे पूर्वाह्न तक
  8. कोल्ड स्टोरेज एवं वेयर हाउसिंग सेवाएँ।
  9. निजी सुरक्षा सेवाएँ।
  10. ठेला पर फल एवं सब्जी की घूम-घूम कर बिक्री सहित |
  11. अन्य सभी प्रतिष्ठान Work from Home के आधार पर कार्य कर सकते हैं।

अस्पताल एवं अन्य संबंधित स्वास्थ्य प्रतिष्ठान (पशु स्वास्थ्य सहित) उनके निर्माण एवं वितरण इकाईयां सरकारी एवं निजी दवा दुकानें, मेडिकल लैब, नर्सिंग होम, एम्बुलेंस सेवाओं से संबंधित प्रतिष्ठान यथावत कार्य करेंगे।

रात्रि कर्फ्यू शाम 06:00 बजे से प्रातः 06:00 बजे तक रहेगा।

(अनु०- सभी थानाध्यक्ष / अंचलाधिकारी / प्रखण्ड विकास पदाधिकारी, बक्सर जिला/ अनुमण्डल पदाधिकारी / अनुमण्डल पुलिस पदाधिकारी, बक्सर एवं डुमराँव)

सार्वजनिक स्थानों एवं मार्गों पर अनावश्यक आवागमन (पैदल सहित) पूर्णतः प्रतिबंधित रहेगा।

  • सभी प्रकार के वाहनों का परिचालन बंद रहेगा।

अपवाद : पब्लिक ट्रासपोर्ट में निर्धारित बैठने की क्षमता के 50 प्रतिशत के उपयोग की अनुमति रहेगी। केवल रेल, वायुयान अथवा अन्य लंबी दूरी यात्रा करने वालों तथा अनुमान्य सेवाओं से संबंधित व्यक्तियों को ही सार्वजनिक परिवहन के उपयोग की अनुमति होगी।

  • स्वास्थ्य से जुड़ी गतिविधियों में संलग्न वाहन एवं स्वास्थ्य प्रयोजनार्थ प्रयुक्त निजी वाहन (घ) वैसे निजी वाहन जिन्हें जिला प्रशासन द्वारा किसी विशेष कार्य हेतु ई-पास निर्गत है।
  • अनुमान्य कार्यों से संबंधित कार्यालयों के सरकारी वाहन
  • सभी प्रकार के माल वाहक वाहन
  • वैसे निजी वाहन जिनमें हवाई जहाज / ट्रेन के यात्री यात्रा कर रहे हो और उनके पास टिकट हो
  • कर्त्तव्य पर जाने हेतु सरकारी सेवकों एवं अन्य आवश्यक अनुमान्य सेवाओं के निजी वाहन
  • अंतर्राज्यीय मार्गों पर अन्य राज्यों को जाने वाले निजी वाहन
  • सभी स्कूल / कॉलेज / कोचिंग संस्थान / ट्रेनिंग एवं अन्य शैक्षणिक संस्थान बंद रहेंगे। इस अवधि में राज्य सरकार के विद्यालय एवं विश्वविद्यालय द्वारा किसी भी तरह की परीक्षाएँ भी नहीं ली जाएँगी।
  • रेस्टोरेन्ट एवं खाने की दुकानें बंद रहेंगी। इनका संचालन केवल होम डिलीवरी के लिए प्रातः 09:00 से रात्रि 09:00 बजे तक अनुमान्य होगा राष्ट्रीय राजमार्गों पर स्थित ढाबे Take Home के आधार पर कार्यरत रह सकते है।
आदेशों का उल्लंघन करने पर होगा कारवाई
  • सभी धार्मिक स्थल आमजनों के लिए बंद रहेंगा।
  • सभी प्रकार के सामाजिक / राजनीतिक / मनोरंजन / खेल-कूद / शैक्षणिक / सांस्कृति एवं धार्मिक आयोजन / समारोह प्रतिबंधित होंगे।
  • सभी सिनेमा हॉल, रॉपिंग मॉल, क्लब, स्विमिंग पूल स्टेडियम, जिम, पार्क एवं उद्यान पूरी तरह बंद रहेंगे।
  • सार्वजनिक स्थलों पर किसी भी प्रकार के आयोजन सरकारी एवं निजी पर रोक रहेगी।
डी०जे० एवं बारात जुलूस की इजाजत नहीं
  • विवाह समारोह अधिकतम 50 व्यक्यिों की उपस्थिति के साथ आयोजित किए जा सकते हैं, किन्तु इनमे डी०जे० एवं बारात जुलूस की इजाजत नहीं होगी विवाह की पूर्व सूचना स्थानीय थाने को कम-से-कम 03 दिन पूर्व देनी होगी। अंतिम संस्कार / श्राद्ध कार्यक्रम के लिए 20 व्यक्तियों की अधिसीमा रहेगी।

    उक्त आदेशों का उल्लंघन करते हुए पाए जाने पर संबंधित के विरुद्ध आपदा प्रबंधन अधिनियम, 2005 की धारा 51-60 एवं मा०द०वि० की धारा 188 के प्रावधानों के अंतर्गत दण्डात्मक कार्रवाई की जाएगी।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button