गंगा की रफ्तार : चौसा मोहनिया स्टेट हाइवे के पास पहुंचा कर्मनाशा का पानी

गंगा नदी के बढ़ते जलस्तर से सहायक नदियां उफान पर बनारपुर के आधा दर्जन घरों में घूंसा बाढ़ का पानी

बक्सर अप टू डेट न्यूज़ /चौसा :- प्रखण्ड में शुक्रवार को गंगा की रफ्तार बढ़ गई है जिसके कारण नदी का जलस्तर खतरे के निशान के पास पहुंचने वाला है। गंगा नदी के तेजी से बढ़ते जलस्तर के कारण सहायक नदी नाले भी उफान पर है।चौसा प्रखण्ड में गंगा नदी के दबाव से कर्मनाशा नदी ने अपना रौद्र रूप दिखाना प्रारंभ कर दिया है। चौसा मोहनिया स्टेट हाइवे के पास बाढ़ का पानी पहुंच चुका है,अगर जलस्तर ढाई फिट और बढ़ गया तो पानी चौसा मोहनिया मार्ग पर चढ़ जाएगा।

med bed buxar copy
विज्ञापन

वंही बनारपुर पंचायत के उतरी छोर पर बसे मल्लाह टोली के कुछ घरों में बाढ़ का पानी घुसना शुरू हो गया है। इस बस्ती के लोगों के लिए समस्या एक बार फिर बढ़ गई है । बस्ती वालों ने घर में रखे खाद्यान्न सामग्री व अपने पशुओं को अन्यत्र ऊंचे स्थानों पर पहुंचाना शुरू कर दिया है। इसी क्रम में प्रखण्ड क्षेत्र के सिकरौल गांव के मुख्य रास्ते से गाँव तक के पहुँच पथ पर पानी चढ़ गया है अगर नदी का जलस्तर ऐसे ही बढ़ता रहा तो सिकरौल गांव के लिए एक तरफ से आवागमन बंद हो सकता है। हालांकि गांव में जाने के लिए एक दूसरी सड़क भी है जिस पर अभी पानी नही चढ़ा हुआ है।वंही शुक्रवार को बढ़ते जलस्तर के कारण नदी का पानी एमसी कॉलेज के कैम्पस में जा पहुंचा है।

सैकड़ो एकड़ की फसलें बर्बादी के कगार पर

क्षेत्र में विगत तीन दिनों से गंगा के बढ़ते जलस्तर से हाय तौबा मची हुई है। प्रखण्ड में तांडव मचाना शुरू कर दिया है। एक तरफ इसके पहले आये बाढ़ में खेतों में पानी रेंगते ही गंगा का जलस्तर घटने लगा था।जिससे किसानों द्वारा राहत की सांस ली गयी। परन्तु उक्त खेतो में पुन: बाढ़ के पानी से हाय तौबा मची हुई है। क्षेत्र के बनारपुर, सिकरौल, रामपुर, डिहरी, तिवाय,रोहनिभान,चौसा आदि गांवों की सैकड़ो एकड़ खेतों में रोपी गई धान अरहर,मक्का,जोनहरी, समेत सब्जी की फसलें पानी में डूबकर बर्बाद हो रही है।

रोक के बावजूद बाढ़ के पानी कूद रहे है युवा

फोटो-29.नदी में छलांग लगाते युवक

प्रशासन द्वारा नदी किनारे 144 लगाने के साथ सभी ग्रामीणों से अपील की गई है कि तेजी से बढ़ते जलस्तर के कारण नदी में स्नान न करे व खासकर अभिभावकों से अपील की गई है कि अपने बच्चों को नदी किनारे नहाने के लिए न जाने दे बावजूद लोगो की लपरवाही बाढ़ में बढ़ गयी है।चौसा मोहनिया स्थित एमसी कॉलेज के समीप पुल के पास दर्जनों युवक व किशोर नदी में छलांग लगा स्नान कर रहे थे।जिससे कभी अनहोहोनी हो सकती है।इस लिए आप सभी से अपील की जा रही है कि इस बाढ़ जैसी विकट परिस्थिति में प्रशासन का सहयोग करे।

चौसा सीओ वृजबिहारी द्वारा बताया गया कि लगातर क्षेत्र भ्रमण किया जा रहा है।बढ़ते जलस्तर को देखते हुए नाव व गोताखोरों को अलर्ट कर दिया गया है।राहत बचाव कार्य के लिए प्रशासन पूरी तरह से तैयार है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button