शहर के बीचों बीच कबाड़खाने,डेंगू का बनता जा रहा घर

शहर के लगभग बीचों बीच कबाड़खाने की यह तस्वीर है।
यह कबड़खाना वहां स्थित है जहां घनी आबादी रहती है।अर्थात विशुद्ध रूप से रिहाइशी इलाके हैं।जाहिर सी बात है जहां घनी आबादी रहती है वहां अगर कबाड़खाना हो तो बहुत तरह की समस्याएं होगी।

buxar bjp add

शहर के बीचों बीच कबाड़खाने,डेंगू का बनता जा रहा घर

बक्सर अप टू डेट न्यूज़ :-बक्सर शहर के लगभग बीचों बीच बसाव मठिया के समीप स्थित कबाड़खाने की यह तस्वीर है।
यह कबड़खाना वहां स्थित है जहां घनी आबादी रहती है।अर्थात विशुद्ध रूप से रिहाइशी इलाके हैं।जाहिर सी बात है जहां घनी आबादी रहती है वहां अगर कबाड़खाना हो तो बहुत तरह की समस्याएं होगी।

मसलन प्लास्टिक और तमाम तरह की कचरा जो ज्यादा दिन रहे तो सड़ने गलने से दुर्गंध तो आएगी। सबसे बड़ी बात यह है कि बरसात शुरु होती ही और ज्यादा समस्या शुरू हो जाती है। क्योंकि बरसात के समय यहां डेंगू और चिकनगुनिया का घर बन जाता है। वह रहने वाले लोग की बड़ी चिंता अपने मासूम बच्चों को लेकर है कि बरसात के मौसम में उनके बच्चे के स्वास्थ्य के साथ क्या होगा।

स्थानीय निवासी रोहित पांडे ने बताया कि आए दिन पूरे नगर का कचरा कबाड़ ट्रक और ठेला गाड़ी पर लादकर यहां बने खबर खाने में जमा किया जाता है वातावरण में बदबू फैल जाता है और नाना प्रकार की बीमारियां उत्पन्न होने की संभावना बनी रहती है इस समस्या को लेकर कई बार जिलाधिकारी के पास आवेदन दिया गया है पर आज तक समस्या और कबड़खाना बनी हुई है।इस दिशा में जिला प्रशासन के पैर तक ना हिली।

आगे बताया कि यह कबाड़खाना को उस जगह पर लगाना चाहिए जहां पर आबादी कम हो या आबादी ना हो क्योंकि कबाड़खाना से नाना प्रकार की बीमारियां होने की संभावना होती रहती है।

इसे भी पढ़े :—————

BUXAR UPTO DATE NEWS APP

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button