क्या कोरोना मृतकों के शव से गंगा हो गई संक्रमित?

बक्सर अप टू डेट न्यूज़ :- बक्सर के चौसा गंगा घाट पर बहते शवों की तस्वीरें देख देश भर में हड़कंप मच गया था। इसका ज्यादा प्रभाव बिहार और उत्तरप्रदेश का क्षेत्र में था| अब यह भी जानने का समय आ गया है की बहते शवों से क्या गंगा प्रदूषित हुई है या नही| क्योंकि गंगा का जल हरा हो गया है| दुर्गन्ध भी निकल रहे है| गंगा के किनारे बसे गाँव पर इसका सीधे असर पड़ रहा है| student lone buxar

जल शक्ति मंत्रालय के ‘नेशनल मिशन फॉर क्लीन गंगा’ की तरफ से इसके जांच के निर्देश दे दिए हैं। इस काम का जिम्मा इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ टॉक्सोलॉजिकल रिसर्च, लखनऊ (आईआईटीआर) को दिया गया है। जाँच के बाद यह स्पष्ट हो आएगा की मिली लाश से गंगा प्रदूषित हुआ है या नही|

कोरोना संक्रमितों के शवों को गंगा में बहते सबसे पहले बक्सर जिले के चौसा के घाटों पर देखा गया था। यही वजह है कि आईआईटीआर एनालिस्ट की टीम ने सबसे पहले बक्सर से ही गंगा के पानी का सैंपल लिया। बक्सर के साथ ही पटना, भोजपुर और सारण से भी टीम ने सैंपल लिए हैं।

बिहार राज्य प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड की टीम के साथ विभिन्न जिलों के गंगा घाटों पर गई टीम ने प्रशासन की मौजूदगी में एक जून को बक्सर और पांच जून को पटना, भोजपुर और सारण में गंगा के पानी का सैंपल लिया।

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button