चार चम्मच पाचक से पशु के सभी रोगों का उपचार करता है डाटा इंट्री ऑपरेटर

बक्सर अप टू डेट न्यूज़/चौसा :- चौसा पशु चिकित्सालय में पदस्थापित डाटा इंट्री ऑपरेटर आनंद कुमार पशुपालकों को चार चम्मच पाचक देकर पशुओं के सभी रोगों का उपचार करता है। ऐसा ही कुछ पशुपालकों ने बताया कि रोग कुछ भी बताया जाए,डाटा इंट्री ऑपरेटर चार चम्मच पाचक दे देता है।student lone buxar

कुछ दिन पूर्व पशुपालकों ने बताया था कि पशु चिकित्सक डाक्टर सोनी अपना मोबाइल नंबर नौ नम्बर का ही लिखवाई है।इसे प्रकाशित किया गया था, परिणामस्वरूप अपने कार्यालय कक्ष के दरवाजे के उपर मोबाइल नंबर तो सुधार करवा दी। लेकिन मुख्य दरवाजे के दीवाल पर अपना केवल नाम लिखवाई है। मोबाइल नंबर एवं कार्यालय में चिकित्सा समय नहीं लिखवाई है।

कुछ अन्य सूत्रों से पता चला है कि सरकार द्वारा आपूर्ति की जा रही दवा को बोर्ड पर प्रदर्शित भी करना है।इसके लिए बोर्ड भी भेजा जा चुका है। लेकिन बोर्ड पर इसको अभी तक प्रर्दशन नहीं किया जा रहा है। इससे पशुपालकों को जानकारी नहीं हो पाता है कि चिकित्सालय में कौन कौन सी दवा उपलब्ध है। सरकार द्वारा आपूर्ति दवा को चिकित्सक द्वारा डाटा इंट्री ऑपरेटर के माध्यम से निजि चिकित्सक को दिया जाता है।

इसके साथ ही कुछ निजि चिकित्सक को कार्यालय एवं दवा भंडार की चाभी भी इनके द्वारा दी गई है।जो उनकी अनुपस्थिति में भी आकर सरकारी दवा को पशुओं को देकर शुल्क लेते हैं।जब पशुपालकों की समस्या संबंधित खबरें प्रकाशित होती है तो डाक्टर सोनी डाटा इंट्री ऑपरेटर के सहयोग से अन्य पदस्थापित कर्मी को झूठे आरोप लगाकर प्रताड़ित करने लगती है।

प्रथम वर्गीय पशु चिकित्सालय चौसा की स्थिति में शीघ्रता शीघ्र सुधार की पहल की जाए

पशुपालकों की समस्या को देखते हुए संजय गोंड, अमर गोंड, पशुपालक भगवान सिंह, रोहित ओझा, विजेंद्र कुमार चौबे, जद यू युवा जिला उपाध्यक्ष विमलेन्द्र कुमार बबलू सहित अन्य ने कहा कि प्रथम वर्गीय पशु चिकित्सालय चौसा की स्थिति में शीघ्रता शीघ्र सुधार की पहल की जाए। जद यू युवा जिला उपाध्यक्ष विमलेन्द्र कुमार बबलू ने कहां कि अस्पताल में आपूर्ति दवा को पशुपालकों को जानकारी नहीं दी जा रही है।उस दवा को अवैध रूप से बेचा जा रहा है।जब कार्यालय में कम्प्यूटर नहीं है तो डाटा इंट्री ऑपरेटर को किसलिए रखा गया है? यदि उसे बैठाकर वेतन दिया जा रहा है, उससे चिकित्सा का कार्य क्यों कराया जा रहा है।

इन सारी बातों की जानकारी जिला पशुपालन पदाधिकारी को है तो उनके द्वारा कार्रवाई क्यों नहीं की जा रही है। यदि जिला पशुपालन पदाधिकारी एवं चौसा में पदस्थापित डाक्टर सोनी द्वारा स्थिति में सुधार नहीं किया गया तो युवा जद यू का प्रतिनिधि मंडल निरिक्षण कर मुख्यमंत्री को अवगत कराया जाएगा। @वीरेंद्र पाण्डेय की रिपोर्ट

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button