बाढ़ पीड़ितों को मुआवजा दिलाने के लिए भाकपा-माले ने किया प्रदर्शन

बक्सर अप टू डेट न्यूज़।ब्रह्मपुर :- राज्य व्यापी मांग दिवस के तहत शनिवार को ब्रह्मपुर प्रखंड कार्यालय पर भाकपा-माले ने बाढ़ पीड़ितों को मुआवजा दिलाने के लिए प्रदर्शन किया।

med bed buxar copy
विज्ञापन

प्रदर्शन को संबोधित करते हुए भाकपा-माले के प्रखंड सचिव अयोध्या सिंह ने कहा कि बिहार सरकार एक बार फिर से बाढ पीडितों के साथ धोखा देने का काम कर रही है।बिहार में आई बाढ की की तबाही ने कई गांवों को बर्बाद कर दिया है भाकपा-माले ने ब्रह्मपुर प्रखंड के दियरा वाले गांवों को दौरा किया ब्रह्मपुर प्रखंड के उमेदपुर, जगदीशपुर नैनिजोर,महुआर,मनिपुर, पांडेयपुर, निमेज,बलुआ, ढाबी, गायघाट, हिरपुर गांवों में बाढ पीडितों के बिच जाकर उनके समस्या से अवगत हुआ।

बाढ़ पीड़ितों ने बताया कि अभी तक कोई सरकारी अधिकारी हमलोग के बिच नहीं आया है कोई सरकारी सुविधाएं नहीं मिला है। लोग घर छोड़कर मंदिर उचे जगह पर किसी तरह सरन लिए हुए है। बाढ़ में कितने लोगों का पलानी बह गया है बहुत लोगों के घरों में तिन फिट तक पानी भर गया है लेकिन सरकार द्वारा कोई सहायता अभी तक बाढ पीडितों के बिच देने की बात तो दूर देखने तक नहीं गए हैं।

हमारी सरकार बाढ वाले इलाके में राहत अभियान चला रही है।

वही मुख्यमंत्री नितिश कुमार बेशर्मी के साथ बोल रहे हैं कि हमारी सरकार बाढ वाले इलाके में राहत अभियान चला रही है। सरकार फिर से बाढ राहत को लुटने में लगी हुई है। जो लोग सचमुच में बाढ में बह गए हैं जिन लोगों ने बटाई पर खेती किए हैं उनका फ़सल बह गया है लेकिन जनप्रतिनिधियों ने पिडित लोगों का नाम से लिस्ट न बना कर उन लोगों का लिस्ट बना रहे हैं जो न खेती किए हैं न बाढ में उनका कोई छती हुई है। प्रदर्शन में आए लोगों ने सरकार की सारी पोल खोल दी है प्रदर्शन में महिला पुरुष की भागीदारी ही बता दिया कि बाढ राहत सही में जो बाढ पिडित उनके पास राहत देने में कितना संवेदनहीन है।

भाकपा-माले ने प्रदर्शन कर सीओ को मांग पत्र सौंपा और मांग किया है कि सीओ जनप्रतिनिधियों से जांच न कराकर अपने स्तर से जाकर माले दोवारा सौपे गए सुची वाले लोगों के बीच जाकर जांच करे।मांग पत्र में मांग किया गया है कि सभी बाढ पीडितों को तत्काल राशन दिया जाए,फसल छति का मुआवजा 20 हजार प्रति बीघा दिया जाए, अतिवृष्टि और बाढ में गिर गए घरों को 50 हजार,फुस पलानी को 30 हजार रुपए मरम्मती के लिए दिया जाए बाढ फस जाने वाले गांवों में नांव कि व्यवस्था किया जाए।

ब्रह्मपुर प्रखंड के दियरा छेत्र के सभी पांच छे पंचायत को बाढ छेत्र घोषित किया जाए। अन्य गांवों में जल जमाव वाले लोगों को मुआवजा दिया। जैसे मांगों के साथ प्रदर्शन कर मांगा पत्र सौंपा गया है प्रदर्शन में मुख्य वक्ता अयोध्या सिंह, बिसरज पासवान, बिरबहादुर पासवान, दयाशंकर साह,अजय राम,महफुज आलम सोमनाथ राम, मुमताज आलम,रामध्यान सिंह,महेंद्र सिंह, धर्मेंद्र सिंह, कन्हैया राम,कुसभगवान,परभुनाथ पाल, अर्जुन बिंद,लालु बिंद, पना देवी समेत सैकड़ों की संख्या में महिला पुरुष उपस्थित थे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button