बाढ़ पीड़ितों के लिए सामुदायिक किचन किया गया प्रारम्भ, लोगो को कराया गया भोजन

बक्सर अप टू डेट न्यूज़ |चौसा :- देर ही सही बाढ़ पीड़ितों के लिए बाढ़ राहत शिविर को लेकर प्रशासन सक्रिय एवं तटस्थ दिखने लगी है। शुक्रवार को उहा पोह की स्थिति में पीड़ितों के लिए भोजन के लिए कम्युनिटी कीचेन प्रारम्भ किया गया। बाढ़ पीड़ितों को किसी प्रकार की दिक्कत नही हो इसे लेकर डीएम के दिशा निर्देश पर बनारपुर मध्य विद्यालय बाढ़ राहत शिविर सुचारू रूप से चालू कर दिया गया है।

med bed buxar copy
विज्ञापन

बनारपुर में बाढ़ राहत शिविर चालू होने से लोगो मे भी सांस की आस जग गयी है। शिविर में पारदर्शिता एवं सौहार्दपूर्ण वातावरण बना रहे इसे ध्यान में रखते हुये बाढ़ राहत शिविर में दर्जनो कर्मियों एवं जनप्रतिनिधियों को भी प्रतिनियुक्त किए है। जिन्हें ससमय अपने अपने कार्यो को पूरा करना है। बाढ़ राहत शिविर में सुबह करीब 10 बजे से बाढ़ पीड़ितों के लिए राहत शिविर को खोल दिए गया। दूसरी पाली में शाम 7 बजे से राहत शिविर में बाढ़ पीड़ितों को शुद्ध एवं पौष्टिक भोजन देने की बात कही गयी।

150 लोगो के लिए सुबह में बनाया गया भोजन

बनारपुर विद्यालय में तैनात अंचल कर्मियों द्वारा बताया गया कि शुक्रवार की सुबह कुल 150 बाढ़ पीड़ितों के लिए भोजन तैयार किया जा रहा है।आवश्यकता पड़ने पर भोजन फिर से तैयार किया जाएगा।बता दे कि दोपहर एक बजे तक अभी सुबह के भोजन तैयार नही हो पाया था।लेकिन सुबह से ही बाढ़ पीड़ित भोजन के लिए विद्यालय में आकर इंतजार में बैठे रहे।

पशुओं एवं ग्रामीणों के लिये तैनात किए गये है चिकित्सक

वही पशुओं के विभिन्न प्रकार के रोक थाम के लिए चौसा पशु चिकित्सक डॉ सोनी कुमारी चौबीसों घण्टे शिविर में तैनात है।वही मेडिकल से प्राथमिक उपचार के लिए चौसा पीएचसी प्रभारी डॉ अरुण कुमार श्रीवास्तव द्वारा बनारपुर के पास डाँक्टरो को तुरन्त उपचार की व्यवस्था के लिए एसजेवीएन के तहत बनाये गए स्वास्थ्य भवन में तैनात किया गया है। जिससे बाढ़ पीड़ितों ने राहत की सांस ली है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button