साहित्य जगत के शिव के नाम पर हो बक्सर का रेलवे स्टेशन

बक्सर अप टू डेट न्यूज़:- अँखुआ के बैनर तले हिंदी साहित्य जगत के शिव कहे जाने वाले आचार्य शिवपूजन सहाय की जयंती मनाई गई।

ज्ञात हो कि आचार्य जी का जन्म 9 अगस्त 1893 को बक्सर जिले के उनवास गांव में हुआ था। जो हिंदी के बहुत बड़े साहित्यकार रहे हैं। उन्हें हिंदी की सूरत गढ़ने का श्रेय दिया जाता है।

सर्वप्रथम आचार्य जी के तैलचित्र के समक्ष मुख्य अतिथि भोजपुरी गायक गोपाल राय, गंगा समग्र के चंद्रभूषण ओझा, मनोचिकित्सक डॉ. कन्हैया मिश्रा, डॉ. बी. दुबे और कांग्रेस के राजारमन पांडे ने संयुक्त रूप से दीप प्रज्वलित कर माल्यार्पण किया।

कार्यक्रम की अध्यक्षता साहित्यकार पंकज भारद्वाज और संचालन आशुतोष दुबे तथा धन्यवाद ज्ञापन ऋषिकेश त्रिपाठी ने किया।

सबसे पहले शिक्षाविद अखिलेश पांडे ने राष्ट्रकवि दिनकर की बातों का उल्लेख किया, जिसे दिनकर ने आचार्य जी के निधन पर कहा था कि “मेरे पूरे शरीर को सोने से सुसज्जित करने पर भी मेरे जीवन में आचार्य शिवपूजन सहाय की कमी पूरी नहीं हो सकती।

मुख्य अतिथि गायक गोपाल राय ने भोजपुरी अश्लीलता की जिक्र न करने की सलाह देते हुए भोजपुरी के अच्छे गीत-संगीत को प्रचारित करने व अच्छे गायकों को सुनने और उनकी हौसला बढ़ाने की बात कही। इस दौरान उन्होंने एक गीत भी प्रस्तुत किया। संगोष्ठी में सभी ने एकमत से बक्सर स्टेशन रोड का नामकरण आचार्य शिवपूजन सहाय के नाम पर करने की माँग की। धन्यवाद ज्ञापन ऋषिकेश त्रिपाठी ने किया।

कार्यक्रम में प्रभाकर मिश्रा, गायक जितेंद्र कुमार, गायक गोलू गोसाई, युवानेता ओमजी मिश्रा, कायस्थ नेता रवि सिन्हा, मनोज राय, एम.भी. कॉलेज के डॉ. अमित मिश्रा, गौतम पाठक, उदय प्रताप, चंदन कात्यान, डॉ. बी. दुबे, शिवम पाठक, राजीव रंजन, सुनील पाठक, अवनीश कुमार पांडे, कृष्णानंद राय, दीपक सिंह, विपुल राय, आदित्य कुमार पांडे, मुन्ना कुमार, शिवजी दुबे,आदि रहे।

इसे भी पढ़े:——–

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button