अंग्रेजों के मालगाड़ी का बनाया निशाना, आजादी के दिनतक भी नहीं पकड़ सकी ब्रिटिश पुलिस

अंग्रेजों के मालगाड़ी का बनाया निशाना, आजादी के दिनतक भी नहीं पकड़ सकी ब्रिटिश पुलिस

बक्सर अप टू डेट न्यूज़/चौसा:- स्वतंत्रता संग्राम की लड़ाई में चौसा के चार लोगों ने ब्रिटिश हुकूमत को खुब परेशान किया था.अंग्रेजों द्वारा कलकत्ता ले जाई जा रही चौसा स्टेशन पर खड़ी माल गाड़ियों से अनाज व तेल को बर्बाद कर दिया.अनाज व तेल जमीन पर फेंक खाली बोरा व टीन लेकर भाग खड़े हुए थे चार लोग.जी हां सन 42 की जंगे आजादी की लड़ाई में चौसा के स्वतंत्रता सेनानी काशी सेठ व छेदीलाल चौरसिया के मित्र रहे देवकीलाल व सीताराम सोनार ने मिलकर चौसा स्टेशन पर खड़ी अंग्रेजों की मालगाड़ी को ही निशाना बनाया और उसपर लदे अनाज को बर्बाद कर दिया था.

अखबार में इश्तेहार छपवाकर दोनों को किया था पकड़ने का खुला चैलेंज

इसके बाद ब्रिटिश पुलिस चारों को ढूंढने लगी.कई माह बाद काशी सेठ व छेदीलाल ब्रिटिश पुलिस के हाथ लगे और उन्हे गिरफ्तार कर लिया गया तथा जेल में बंद कर दिया गया.परंतु आजादी के दिन तक देवकीलाल व सीताराम सोनार को ब्रिटिश हुकूमत पकड़ नहीं पाई.लोग बताते है कि देवकीलाल व सीसाताराम सोनार ने ब्रिटिश हुकूमत को पकड़ने के लिए अखबार में छपवाकर खुली चुनौती भी दिया था.चुनौती की खबर पढ़ ब्रिटिश पुलिस चौसा में लगातार तीन दिनों तक रेड भी किया परंतु दोनों को नहीं पकड़ सकी.

सन 1944 में ब्रिटिश हुकुमत को सूचना मिली की दोनों आज घर में ही है.सेक्टर की पूरी ब्रिटिश फौज रात में छापेमारी किया परंतु देवकी लाल साड़ी पहनकर घर से निकल गए और सीताराम ज्वार के खेत में छुपकर गंगा पार हो फरार हो गए. और अंततः दोनों ब्रिटिश हुकूमत के हाथ नहीं लगे.

बक्सर अप टू डेट न्यूज़ के वी.के मुन्ना की रिपोर्ट

इसे भी पढ़े:——

Related Articles

Back to top button