अवैध संबंध से मासूम का बना जैविक पिता, शादी के डर से कर दिया हत्या

युवक अवैध संबंध से मासूम का बना जैविक पिता, वही शादी करने के लिए युवक पर हमेशा दबाव बना रही थी, अपनी गलती छुपाने के लिए किशोर का हत्या कर दिया.

  • युवक अवैध संबंध से मासूम का बना जैविक पिता
  • शादी के डर से युवक किशोर का कर दिया हत्या
  • तीन वर्ष से चल रहा था अवैध संबंध

ads buxar

अवैध संबंध से मासूम का बना जैविक पिता, शादी के डर से कर दिया हत्या

बक्सर अप टू डेट न्यूज़ /सिमरी :- थाना अंतर्गत नगपुरा गांव 3 वर्षीय बच्चे के हत्या कर उसी के पड़ोसी के दरवाजे से शव प्राप्त होता है| पुलिस ने अपनी मुस्तैदी दिखाते हुए जो कार्य किया वह बेहद ही सराहनीय है| जिसमें शक के आधार पर पुलिस ने 3 लोगों को हिरासत में लिया था| उनसे पूछताछ से जो सत्य सामने आता है वह बेहद ही चौंकाने वाला है|

एसडीपीओ कृष्ण कुमार सिंह ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में बताया कि कांड संख्या 124 के तहत 3 वर्षीय बालक जो कि दिनांक 3 तारीख से ही लापता था| उस बच्चे का लाश 4 तारीख के सुबह 5:00 बजे उस के पड़ोसी के दरवाजे पर मिलता है जिसमें अभियुक्त राहुल सिंह को गिरफ्तार कर पूछताछ की गई तो वहां से बेहद ही चौंकाने वाली सत्य सामने आता है राहुल कुमार ने अपनी गलती को स्वीकारा जुर्म कबूल करता है ।

साथ उसने यह भी बताया कि क्यों उस ने बचे की हत्या की मृतक बच्चे की मां के साथ उसका अवैध संबंध विगत 3 वर्षों से है और अब उसे शादी करना था और राहुल कुमार के लिए रिश्ते आ रहे थे लेकिन इस संबंध की वजह से मृतक बच्चे की मां उस पर हमेशा दबाव बनाती थी जिस की वजह से वह तनावपूर्ण रहता था । अभियुक्त ने यह भी बताया कि मृतक बच्चे का वह जैविक पिता है और बच्चे की मां इसी बात का फायदा उठा कर उसे धमकी दिया करती थी|

अभियुक्त भी बच्चे के खोजने में पूरे रूप से नाटक कर रहा था

अगर उससे शादी नहीं किया तो बच्चे को लेकर केस मुकदमा कर देगी । घटना के दिन तकरीबन 9:00 बजे जब बच्चा अपने घर से खेलने के लिए अभियुक्त के घर आया तो दम घोटकर बच्चे की हत्या कर देता है तथा शव को अपने मकान के पीछे एक खंडहर नुमा टूटी फूटी कोठी में रखकर सड़ी पलंग के नीचे छिपा देता है|

इसकी जानकारी घर वालों को भी हो गई जिसके बाद घर वाले भी बच्चे के शव को छुपाने में मदद करते हैं । 3 तारीख से ही पूरे गांव के लोग बच्चे को खोजने में लगे थे उनके साथ अभियुक्त भी बच्चे के खोजने में पूरे रूप से नाटक कर रहा था । लेकिन 4 तारीख को सुबह होने पर उसे लगा कि जब बच्चे के शव को वहां से हटाना संभव नहीं हो सकता तो उसने अपने भाइयों के मदद से उक्त खंडहर नुमा कोठरी से बच्चे के शव को बाहर निकालकर गांव में हल्ला मचा दिया और शव भिखारी यादव के घर के पीछे के तरफ की दीवार से सटा पड़ा हुआ मिलता है ।

इसे भी पढ़े :———————————

बक्सर अप टू डेट न्यूज़ के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button