पेंशन घोटाला का बड़ा खेल, क्या कांग्रेस विधायक पेंशन के लिए पत्नी को बनाया चाचा का आश्रित

बक्सर अप टू डेट न्यूज़ :-माननीयों की पेंशन में बड़ा खेल चल रहा है। मृत आश्रितों के नाम पेंशन जारी करने के खुलासे के बाद एक चौंकाने वाला तथ्य सामने आया है। पेंशन के लिए राजपुर से कांग्रेस के विधायक विश्वनाथ राम ने कथित तौर पर चाचा की आश्रित की जगह अपनी पत्नी का नाम डलवा दिया है।

med bed buxar copy
विज्ञापन

विधायक पर यह संगीन आरोप इसलिए लग रहा है क्योंकि, विधायक की पत्नी का नाम भी गीता देवी है। उन्होंने इसकी जानकारी 2020 में विधानसभा चुनाव के दौरान अपने शपथ पत्र में भी दी है। दूसरी तरफ बिहार विधानसभा से RTI के जरिये पेंशन पानेवाले आश्रितों की जो लिस्ट जारी की गई है, उसमें उनके चाचा विधायक रहे स्व. रामनारायण राम की पत्नी का नाम भी गीता देवी लिखा गया है, जिन्हें विधानसभा से 46,500 जारी किए जा रहे हैं, जबकि उनकी कोई पत्नी थी ही नहीं। इस बात की पुष्टि खुद विधायक ने भी की हैं।

चाचा स्व रामनारायण राम की बचपन में शादी हुई थी

विधायक के मुताबिक, चाचा स्व रामनारायण राम की बचपन में शादी हुई थी और उनकी पत्नी कभी ससुराल आई ही नहीं। खुद विधायक के मुताबिक, चाचा की ना कोई पत्नी थी और
ना संतान, इसलिए उन्होंने मुझे गोद लिया था और वो उनके दत्तक पुत्र हैं। ऐसे में सवाल यह
खड़ा हो रहा है कि वो गीता देवी कौन है? जिसे विधान भा कार्यालय से पेंशन दी जा रही है।

आरोप में फंसने के बाद कांग्रेस विधायक पूरे मामले की जांच कराने की मांग कर रहे हैं।
उन्होंने कहा- “आरोप सरासर गलत है। ये सही है कि मेरी पत्नी का नाम गीता देवी है,
लेकिन ये आरोप पूरी तरह से गलत है कि हमने अपनी पत्नी का नाम चाचा के आश्रित में दिया है।’ विधायक का कहना है कि ये पूरी गड़बड़ी विधानसभा कार्यालय के स्तर से हुई है और इसकी पूरी जांच होनी चाहिए ।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button