जिले का बंदी किशोर बाथरूम में गमछा बांधकर कर ली खुदकुशी

बक्सर अप टू डेट न्यूज़ :- शुक्रवार की देर शाम भोजपुर जिले के टाउन थाना क्षेत्र के धनुपरा स्थित बाल पर्यवेक्षण में एक बाल बंदी ने बाथरूम में गमछा बांधकर खुदकुशी कर लेने का मामला सामने आया है। घटना के बाद बाल बंदी को इलाज के लिए आरा सदर अस्पताल लेकर जाने के क्रम में ही उसकी मौत हो गई।

med bed buxar copy
विज्ञापन

घटना के बाद बाल पर्यवेक्षण गृह में हड़कंप मच गया। वहीं दूसरी ओर घटना के बाद 10 अन्य बाल बंदी मौके का फायदा उठाकर मेन गेट तोड़कर फरार हो गए। जिसको लेकर और अफरातफरी का माहौल कायम हो गया।

बताया जा रहा है कि मृत किशोर बक्सर जिले के नगर थाना क्षेत्र के बुधनपुरवा गांव निवासी शंकर प्रसाद वर्मा का 16 वर्षीय पुत्र मोनू कुमार है। इधर बाल पर्यवेक्षण गृह के प्रभारी अधीक्षक रविशंकर वर्मा ने बताया कि यहां कुल 87 बाल बंदी हैं, जिनमें 14 बाल बंदी क्वारंटाइन रूम में रहते हैं। उसमें मरने वाला किशोर भी शामिल था। मृत किशोर मोनू कुमार कांड संख्या 366(A)/34 के मामले में इसी माह के छह तारीख को आया था।

इलाज कराने ले जाने के क्रम में ही रास्ते में ही तोड़ा दम

खाना खाने के बाद वह बाथरूम में जाकर दरवाजा बंद कर लिया। उसके बाद उसने गले में गमछा बांध कर फांसी लगा ली। कुछ देर बीत जाने के बाद जब बाथरूम का दरवाजा नहीं खुला तो अन्य बंदियों ने शोर मचाना शुरू किया। शोर सुनने के बाद बाद हम सभी वहां पहुंचे और बाथरूम का दरवाजा तोड़कर इलाज के लिए आरा सदर अस्पताल ला रहे थे। इसी दौरान उसने रास्ते में ही दम तोड़ दिया।

वहीं, प्रभारी अधीक्षक रवि शंकर वर्मा ने बताया कि वह बाल गृह में आने के बाद एक बार पहले भी फिनाइल पी चुका था जिससे उसकी हालत बिगड़ गई थी। इसके बाद उसका इलाज भी कराया गया था| हालांकि बंदी किशोर ने खुदकुशी क्यों कि इसका कारण स्पष्ट नहीं हो पाया है। घटना के बाद अन्य और 10 बंदी मौके का फायदा उठाकर मेनगेट तोड़कर फरार हो गए।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button